श्री गणेश चतुर्थी 2023 पूजा विधि और व्रत कथा, तिथि और शुभ मुहूर्त In Hindi

 

गणेश चतुर्थी 2023

इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा की गणेश चतुर्थी 2023 में किस तिथि को है और पूजन का शुभ मुहूर्त कब है और इस आर्टिकल में आपको गणेश चतुर्थी व्रत कथा, आरती, पूजन विधि के साथ और भी बहुत कुछ पढ़ने को मिलेगा।

भारतीय संस्कृति में हिन्दू धर्म का महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसके साथ ही विभिन्न देवी-देवताओं की पूजा का भी महत्वपूर्ण स्थान है। इनमें से एक महत्वपूर्ण देवता है भगवान गणेश, जिन्हें विघ्नहर्ता और बुद्धिदाता के रूप में पूजा जाता है। उनके आगमन का त्योहार ‘गणेश चतुर्थी’ है, जो हर साल धूमधाम से मनाया जाता है।

गणेश चतुर्थी क्या है?

गणेश चतुर्थी भारत में धूमधाम से मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण हिन्दू पर्व है, जो भगवान गणेश के आगमन के रूप में मनाया जाता है। इसे भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है, जो सामान्यत: अगस्त और सितंबर के बीच आता है। इस पर्व की शुरुआत भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना से होती है और यह दस दिनों तक चलता है, जिसका आधा पावन होता है।

गणेश चतुर्थी का महत्व

1. आत्मा की शुद्धि: गणेश चतुर्थी को आत्म-शुद्धि और समर्पण का पर्व माना जाता है। भक्तियों का मानना ​​है कि इस दिन भगवान गणेश सभी अशुभता और कठिनाइयों को दूर करते हैं।

2. समृद्धि का प्रतीक: गणेश चतुर्थी का आगमन समृद्धि और सौभाग्य की ओर इशारा करता है। लोग इसे अपने घरों में गणेश जी की मूर्ति स्थापित करके मनाते हैं और उन्हें विशेष पूजा-अर्चना करते हैं।

3. सामाजिक एकता: गणेश चतुर्थी एक समाज में सामाजिक और सांस्कृतिक एकता की भावना को प्रोत्साहित करता है। यह लोगों को एक साथ आने के लिए प्रोत्साहित करता है और समुदायिक उत्सव की भावना को बढ़ावा देता है।

गणेश चतुर्थी 2023 के कैलेंडर में कब है?

गणेश चतुर्थी 2023 में कब है

गणेश चतुर्थी 2023 के कैलेंडर में 19 सितंबर को है। इस दिन भगवान गणेश के प्रति भक्ति और आत्म-समर्पण का महत्वपूर्ण अवसर होगा, और लोग उनके आगमन का आदर करेंगे और उनके आशीर्वाद की कामना करेंगे।

गणेश चतुर्थी एक ऐसा पर्व है जो धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व के साथ-साथ समुदायिक और सामाजिक एकता को भी प्रमोट करता है। इसके साथ ही, इस पर्व में कला और साहित्य की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, जिसके तहत सुंदर मूर्तियाँ बनाई जाती हैं और आदर्श व्यक्ति के रूप में भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

इस गणेश चतुर्थी पर्व के अवसर पर, हम सभी को भगवान गणेश के आशीर्वाद से सजीवन समृद्धि और सुखमय जीवन की प्राप्ति की कामना करता हूँ। गणपति बप्पा मोरया!

गणेश चतुर्थी 2023 शुभ मुहूर्त

हिन्दू पंचांग के अनुसार, 2023 का विनायक चतुर्दशी सोमवार, 18 सितंबर को 12:39 बजे शुरू होगा और मंगलवार, 19 सितंबर को 8:43 बजे पूर्ण होगा। साथ ही, यदि कोई मध्याह्न गणेश पूजा मुहूर्त की चर्चा करता है, तो वह 11:01 बजे से शुरू होगा और 01:28 बजे तक चलेगा, जिसमें कुल 2 घंटे और 27 मिनट होंगे। गणेश चतुर्थी से पहले चंद्रमा को न देखने के लिए, सुझाया जाता है कि गणेश चतुर्थी से एक दिन पहले, 09:45 बजे से 08:44 बजे तक चंद्रमा को न देखें।

गणेश चतुर्थी पूजा की विधि 2023

गणेश चतुर्थी पूजा का आयोजन ध्यानपूर्वक, श्रद्धा और भक्ति से किया जाता है। निम्नलिखित है गणेश चतुर्थी पूजा की संपूर्ण विधि:

सामग्री:

  1. गणेश जी की मूर्ति या प्रतिमा
  2. गणेश चतुर्थी के लिए सजाने के लिए पूजा स्थल
  3. गणेश चतुर्थी के लिए फूल, पुष्पमाला, धूप, दीप, नैवेद्य, और फल
  4. कलश और नंदनी तिलक
  5. पूजा की थाली, बेल, चम्पा फूल, गुड़, दाने, मिश्री, और कोई भी धार्मिक गीत या भजन
  6. गणेश चतुर्थी के व्रत की कथा और आरती का पाठ करने के लिए पुस्तक

पूजा की विधि:

  1. पूजा स्थल की सजावट: पूजा स्थल को सजाने के लिए फूल, पुष्पमाला, धूप, दीप, नैवेद्य, और फल की सजावट करें।
  2. गणेश जी की स्थापना: गणेश जी की मूर्ति या प्रतिमा को पूजा स्थल पर स्थापित करें।
  3. कलश पूजा: कलश को नंदनी तिलक और कुमकुम से सजाकर पूजा स्थल पर रखें।
  4. गणेश पूजा: गणेश चतुर्थी के व्रत की कथा पढ़ें और आरती का पाठ करें।
  5. पूजा और आरती: पूजा की थाली में बेल, चम्पा फूल, गुड़, दाने, मिश्री आदि बटों को रखें और गणेश जी को पूजें। फिर आरती का पाठ करें।
  6. नैवेद्य: गणेश जी के लिए नैवेद्य (खाद्य आहार) तैयार करें और उन्हें प्रसाद के रूप में चढ़ाएं।
  7. भजन और कीर्तन: गणेश चतुर्थी पूजा के दौरान धार्मिक गीत और भजन गाकर भगवान की महिमा का गुणगान करें।
  8. प्रदक्षिणा: गणेश जी की मूर्ति के चारों ओर प्रदक्षिणा करें और उनकी कृपा का आशीर्वाद प्राप्त करें।
  9. व्रत तोड़ना: गणेश चतुर्थी के व्रत को पूरा करने के बाद, व्रत तोड़ें और प्रसाद को बांटें।
  10. चंद्रमा की पूजा न करें: गणेश चतुर्थी से पहले चंद्रमा को न देखें और उस समय के लिए दूर रहें, क्योंकि इसका मान्यता से चंद्रमा गणेश चतुर्थी के व्रत को विघ्नित कर सकता है।

गणेश चतुर्थी व्रत कथा-

युगों-युगों पहले, प्राचीन काल में, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को, पृथ्वी पर अत्यंत दुखों की आवाज सदैव सुनाई देती थी। लोगों के जीवन में सुख-दुख के चक्कर लगे रहते थे और उन्हें दुख से बचाव के लिए कोई उपाय नहीं मिल रहा था। उनकी चिंता बढ़ गई थी और वे भगवान की कृपा और आशीर्वाद की आशा में अपने दुखों का समाधान ढ़ूंढने लगे।

एक बार, एक गांव में एक गरीब लड़का नामक ‘ग्रिहपति’ रहता था। वह बड़ा ही पुण्यशील और भक्तिमय था। अपनी गरीबी के बावजूद, वह हमेशा भगवान का भजन करता था और व्रत रखता था। उसका विशेष पसंदीदा देवता भगवान गणेश था।

एक बार उसने सपने में भगवान गणेश को देखा, जिन्होंने उसे व्रत रखने की सलाह दी। वे बताए कि कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी व्रत का आयोजन करें और भगवान की पूजा-अर्चना करें, तो उनके सभी दुख दूर हो जाएंगे।

ग्रिहपति ने भगवान की सलाह मानी और गणेश चतुर्थी के दिन व्रत रखा। उसने गणेश जी की मूर्ति को तैयार किया और पूजा के लिए सब सामग्री तैयार की। वह भक्तिभाव से गणेश जी की पूजा की और अपनी पूरी श्रद्धा और भक्ति से आराधना की।

ग्रिहपति की ईमानदारी, भक्ति, और पूरी श्रद्धा के साथ किए गए इस व्रत के परिणामस्वरूप, उसके सभी दुख दूर हो गए और उसे आनंद और सुख की अनुभूति होने लगी। उसके जीवन में समृद्धि और सफलता आई और वह धन्य हो गया।

इसके बाद से, गणेश चतुर्थी को भगवान गणेश के पूजन का महत्वपूर्ण दिन माना जाता है और लोग इसे धार्मिक उत्सव के रूप में मनाते हैं। इस दिन गणेश जी की पूजा-अर्चना की जाती है और उनका व्रत रखा जाता है, जिससे भगवान गणेश की कृपा प्राप्त होती है और लोगों के जीवन में सुख, समृद्धि, और सफलता की प्राप्ति होती है।

इसी तरह, गणेश चतुर्थी व्रत कथा से हमें यह सिखने को मिलता है कि भगवान की भक्ति, ईमानदारी, और श्रद्धा से किए गए व्रत और पूजा से हमारे जीवन में सुख, समृद्धि, और सफलता की प्राप्ति होती है।

भगवान श्री गणेश की आरती हिंदी में-

गणेश जी की आरती 2023

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,
चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे
मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,
और चढ़े मेवा ।
लड्डुअन का भोग लगे
संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,
कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत
निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,
सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,
शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो
जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,
जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती
पिता महादेवा ॥

Happy Ganesh Chaturthi Wishes 2023 in Hindi

 

1. गणेश चतुर्थी की आपको और आपके परिवार को ढेर सारी खुशियाँ मिलें।

2. गणपति बप्पा के आगमन के साथ, खुशियों की बारिश हो।

3. गणेश जी आपके घर को सुख-शांति से भर दें।

4. मांगलिक अवसर पर गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं!

5. गणपति बप्पा की कृपा आपके ऊपर बरसे।

6. आपके जीवन में खुशियों की लहरें आएं।

7. गणेश चतुर्थी के इस पावन दिन पर, आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हों।

8. गणेश जी के आगमन के साथ, सभी परेशानियों का नाश हो।

9. इस गणेश चतुर्थी पर, आपका जीवन मंगलमय हो।

10. गणपति बप्पा के आगमन के इस खास मौके पर, ढेर सारी खुशियाँ मिलें।

11. गणेश चतुर्थी की आपको और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं!

12. गणपति बप्पा आपके जीवन को सुंदरता से सजाएं।

13. गणेश चतुर्थी के इस पवित्र अवसर पर, आपके सभी कार्य सफल हों।

14. भगवान गणेश से प्राप्त हो आपकी हर इच्छा।

15. गणेश चतुर्थी के पावन दिन पर, आपका मन सुख से भरा रहे।

16. गणपति बप्पा आपके जीवन को सुखमय और समृद्ध करें।

17. इस धार्मिक उत्सव पर, गणेश जी आपके सारे दुख हर दें।

18. आपके जीवन में सुख, समृद्धि, और शांति का वातावरण बने।

19. गणेश चतुर्थी के इस पवित्र अवसर पर, आपका दिल खुशी से भरा रहे।

20. भगवान गणेश के आशीर्वाद से, आपका जीवन हमेशा मंगलमय रहे।

21. गणेश चतुर्थी की शुभकामनाएं, भगवान गणेश की कृपा आप पर बनी रहे!

Happy Ganesh Chaturthi Wishes 2023 in English

1. May Lord Ganesha bless you with happiness and success on this Ganesh Chaturthi!

2. Wishing you a joyous Ganesh Chaturthi filled with love and prosperity.

3. May the divine presence of Lord Ganesh bring peace and harmony to your home.

4. Happy Ganesh Chaturthi! May all your wishes and dreams come true.

5. May the blessings of Lord Ganesha be with you always. Happy Ganesh Chaturthi!

6. On this auspicious occasion of Ganesh Chaturthi, may your life be filled with positivity and goodness.

7. May Lord Ganesha remove all obstacles from your path and shower you with success.

8. Wishing you a Ganesh Chaturthi filled with devotion and spirituality.

9. May the arrival of Lord Ganesh bring you endless joy and prosperity.

10. May the blessings of Ganpati Bappa fill your life with happiness and fulfillment.

11. Warm wishes on Ganesh Chaturthi to you and your family. May it bring peace and prosperity.

12. May Lord Ganesha decorate your life with countless blessings. Happy Ganesh Chaturthi!

13. On this sacred occasion of Ganesh Chaturthi, may all your endeavors be successful.

14. May Lord Ganesha grant you every wish you make with a pure heart.

15. May your heart be filled with happiness on this auspicious day of Ganesh Chaturthi.

16. Ganpati Bappa, the remover of obstacles, bless your life with joy and abundance.

17. On this religious festival, may Lord Ganesha take away all your sorrows.

18. May your life be filled with happiness, prosperity, and peace on Ganesh Chaturthi.

19. May your heart be brimming with joy on this divine occasion.

20. May your life always be auspicious and prosperous with the blessings of Lord Ganesha.

21. Happy Ganesh Chaturthi! May the grace of Lord Ganesha always be upon you!

 

Also Read This– Top 5 Best Happy Ganesh Chaturthi Wishes 2023

Leave a comment